hindi kavitaye

एक आंसु

एक वो आसु हैं जो आज भी
पलकों से गुफ्तगू करते हैं
हर पल ठहरते है
और तेरी ही बातें करते हैं

इंतजार जो तेरा होता
तो ये कुछ यादें दे जाते हैं

कभी कभी यूहीं ।।

कभी कभी तुम यूहीं
जिंदगी से बाते किया करो
क्या पता पुरानी यादों मै कहीं
अपनासा कोई मिल जाए

कभी यूहीं बैठे बैठे
दिल की धुन सुना करो

भारत देश है मेरा!!!

येसा देश है मेरा!!

हा यही तिरंगा है मेरा
भारत देश है मेरा
कणकण में बसता है
विभिन्नतओ का देश है मेरा

सम्मान है मेरा
भाषाओं में अनेक है देश मेरा
भिरभी जो एक है ऐसा
जग में महान है देश मेरा

रात.. !!

ये चांद कुछ कहता है
गहरी इस रात को
कही तु उसे सुन ना लेना

कही है दर्द की वजह
तो कहीं है प्यार की बातें
कही तु उसे पढ ना लेना

Scroll Up