ये जिंदगी || YE ZINDAGI || POEM ||

कुछ छूटा है जिंदगी तो मायूस ना होना मेरा साथ काफी है तुझे ।।!! कभी रोना होगा तो मत इतराना मेरा दिल काफी है तुझे!!!

Friendship || DOSTI || AKELAPAN || POEM ||

यही तो शुरवात है अनजान होने की आज आप busy हो जाओ कल हम खों जाएंगे बस यादें रेह जाएंगी फिर number भी बदल जाएंगे

एक आंसु || EK AASU || HINDI POEMS ||

एक वो आसु हैं जो आज भी पलकों से गुफ्तगू करते हैं हर पल ठहरते है और तेरी ही बातें करते हैं इंतजार जो तेरा होता तो ये कुछ यादें दे जाते हैं

नादान ये दिल || NADANSA YE DIL || POEMS ||

नादान सा जो दिल है ये आज भी कुछ मांगता है कहीं नीले आसमान के नीचे खुद ही को क्यों धुंडता है मिले सन्नाटे की ये पंक्तियां जिसे कोन लिखता है

कभी कभी यूहीं ।। KABHI KABHI || HINDI POEMS ||

कभी कभी तुम यूहीं जिंदगी से बाते किया करो क्या पता पुरानी यादों मै कहीं अपनासा कोई मिल जाए कभी यूहीं बैठे बैठे दिल की धुन सुना करो