Skip to main content

सफर

“हर रास्ता कुछ कहता है
तु बस सुनता जा
ये मंजिल तो आएगी एक दिन
सफर तो यह करता जा

कभी एकेले चल रहा
कभी भीड में खो न जा
हर बस्तियों पे जश्न होगा
कही तु उनमें बैठ न जा

वो मंजिल अभी दुर है
समय को भुल न जा
ये सफर पुरा करना है
तु बस चलता जा

हर कोई सुन रहा है
तु बस कह ता जा
ये मंजिल तो आएगी एक दिन
सफर तो यह करता जा!!”

:योगेश खजानदार

Yogesh khajandar

लेखक

Leave a Reply