साथ

Share This

“क्यों न चले हम साथ
दुनिया तो छोटी है
मिलते रहे हम यहा
समय की कमी है

ना करो नफरत
ये सब झूठी है
प्यार बाटले
समय की कमी है

मै चलु तुम चलो
जिंदगी हसीन है
छोडिये शिकवे
समय की कमी है

साथ जाये छुट
आॅखो मे नमी है
चल हाथ थाम मेरा
समय की कमी है …!!”

-योगेश खजानदार

Next Post

दुनिया का मुझसे क्या

Mon Feb 9 , 2015
चलता हु अपने धुन करना जो कहे मन सवाल ना पुछो दुनिया का मुझसे क्या सब यहा झुट सब कहे मेरी सुन अरे तु मेरी सुन दुनिया का मुझसे क्या