येसा देश है मेरा!!

हा यही तिरंगा है मेरा!!
भारत देश है मेरा!!
कणकण में बसता है,
विभिन्नतओ का देश है मेरा!!

सम्मान है मेरा!!
भाषाओं में अनेक है देश मेरा!!
भिरभी जो एक है ऐसा,
जग में महान है देश मेरा!!

रंगों का देश मेरा!!
त्योहारों का हे देश मेरा!!
फिरभी जो अटूट बंधन है,
ऐसा मजबूत देश है मेरा!!

गर्व से ऊंचा सम्मान मेरा!!
मन मे बसा हुआ देश है मेरा!!
सबसे उपर फहराया झंडा,
येसा भारत देश है मेरा!!”

-योगेश खजानदार
SHARE